शादी के बाद पति गया विदेश, डिप्रेशन में पत्नी चौथी मंजिल से कूदी

इंदौर, पलासिया थाना क्षेत्र में नवविवाहिता ने चौथी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। शादी के तीन महीने बाद से वह मायके में रह रही थी। शादी के बाद पति नौकरी के लिए विदेश चला गया था। जिसके कारण वो डिप्रेशन में थी। परिजन मनोरोग चिकित्सक से इलाज भी करवा रहे थे।

टीआई धैर्यशील येवले के मुताबिक, प्रीति (30) पति अजय परदेशी निवासी ग्रेटर तिरुपति वृंदावन पैलेस ने खुदकुशी कर ली। पुलिस ने बताया कि वो शुक्रवार दोपहर करीब सवा दो बजे चाची अलका चौधरी के घर आई थी। उसकी चाची गीतानगर स्थित रेनबो अपार्टमेंट की चौथी मंजिल पर बने फ्लैट में रहती है। चाची अलका ने बताया कि वो भतीजी के लिए किचन में चाय बना रही थी। चंद मिनटों बाद जोर की आवाज सुनाई दी। वो दौड़कर छत पर गई। वहां भतीजी की चप्पलें पड़ी थी। छत से नीचे झांककर देखा तो भतीजी नीचे पड़ी हुई थी।

वो सीढ़ियों से भागकर नीचे गई। ऊंचाई से गिरने के कारण भतीजी की मौके पर ही मौत हो गई थी। आस-पड़ोस के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। चाची ने बताया कि प्रीति की शादी दिसंबर 2015 में नासिक में हुई थी। उसकी तीन बहनें वंदना, कामिनी और दीपिका हैं। एक भाई देवेश चौधरी भी है। दामाद अजय हांगकांग में निजी कंपनी में काम करते हैं। शादी के तीन महीने बाद ही वे विदेश चले गए। ससुराल वालों ने प्रीति को मायके भेज दिया था। कई बार ससुराल वालों से संपर्क करने की कोशिस की, लेकिन जवाब नहीं मिला।

मैं माता-पिता पर बोझ बन गई हूं

टीआई येवले ने बताया कि प्रीति के पिता प्रकाश चौधरी लॉन्ड्री संचालक हैं। उन्होंने बताया कि बेटी ने एमकॉम तक पढ़ाई की थी। पॉर्लर का काम भी करती थी। पति और ससुराल वाले शादी के बाद से परेशान करने लगे थे। पति से अलग रहने के कारण वो मानसिक रूप से परेशान थी। एक आश्रम में होम्योपैथिक दवाई के साथ डॉ.पाल भी उसका इलाज कर रहे थे। वो अकसर कहती थी कि शादी के बाद से वो सबसे लिए बोझ बन गई है। डिप्रेशन के कारण उसे कभी अकेला नहीं छोड़ते थे।